चेन्नई सुपर किंग्स

मुकेश चौधरी ने ऐसा खुलासा किया है कि, जब से चेन्नई फ्रेंचाइजी के सलामी बल्लेबाज ऋतुराज गायकवाड और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के साथ यह आई पी एल 2022 की टीम का हिस्सा बने हैं. उनके करियर पर इसका क्या प्रभाव पड़ा है. टीम में शामिल होने के बाद चौधरी का करियर पलट गया. जिसमें वह सबसे बड़ा हाथ धोने का मानते है. अभी से हजारे ट्रॉफी के 2021-22 के सीजन में, 26 वर्ष के चौधरी जिन्होंने अग्रणी विकेट लिया था. सीएसके ने आईपीएल 2022 में इन्हें 20 लाख में रुपए खरीदा था.

चेन्नई सुपर किंग्स

तेज गेंदबाज के तौर पर यह काफी अच्छा रहा भले ही उनकी टीम सीजन में नौवां स्थान प्राप्त कर पाई. आईपीएल 2022 में केवल 13 मैच खेलकर वह टीम इस सीजन से बाहर हो गई. जिसमें उन्होंने 17 के स्ट्राइक रेट के साथ 16 विकेट गिराए. चौधरी ने खुलकर बताया कि मुझे ऐसी उम्मीद ही नहीं थी की वह सी एस के द्वारा चुने जा सकते हैं. इसके बाद उन्हें एक दर्जन से ज्यादा मैच खेलने का मौका मिला जिससे वह बेहद खुश है उन्हें कतई एक ही नहीं था कि इतना बड़ा मौका मुझे मिलेगा. Also Read : Ravindra Jadeja : क्या सच में मुंबई इंडियस के खेमे में शामिल होंगे जड़ेजा, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा जड्डु का पोस्ट

चेन्नई सुपर किंग्स

चेन्नई सुपरकिंग डॉट कॉम पर चौधरी

चेन्नई सुपर किंग के वंडरफुल खिलाड़ी चौधरी ने कहा कि मुझे यकीन ही नहीं था और मैंने कभी नहीं सोचा था कि, मैं चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलूंगा. जब मैंने टीम में प्रवेश किया था धोनी ने मुझे प्यार से कंधे पर थपथपाया जिससे मुझे बहुत गर्व महसूस हुआ और बहुत खुशी भी महसूस हुई.

बरहाल अभी हाल ही में चौधरी ने चेतन सकार्य के साथ T20 मैच मैच सीरीज क्वींसलैंड में विदेशी खिलाड़ी के रूप में साइन किया है. उन्होंने बताया कि शुरुआत में मेरा पहले ही खराब प्रदर्शन रहा था. इसके बाद धोनी ने उनका आत्मविश्वास पढ़ाया चौधरी ने यह भी कहा कि बाएं हाथ के तेज गेंदबाज के लिए स्विंग उनके शस्त्रागार में सबसे ज्यादा शक्तिशाली हथियार है. Also Read : Ravindra Jadeja : क्या सच में मुंबई इंडियस के खेमे में शामिल होंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *